Posted by Nalin Mehra on 4:51 PM

छु लिया है तुमने जो दिल को, ख्वाबों को मेरे मंजिल मिली,

एक तन्हा रात सी मेरी ज़िन्दगी को, चांदनी की पहली किरण मिली,

महकता समां और मदहोश सी है सारी फिजा,

लगता है जैसे तेरे प्यार ने हौले से मेरे दिल पे दस्तक दी ..........

नलिन

0 comments:

Search